Breaking News
Breaking News
{"ticker_effect":"slide-v","autoplay":"true","speed":3000,"font_style":"normal"}

उज्जैन- जावरा के खूनी रोड ने निगली चार मासूम जिंदगी

August 22, 2022
स्कूली वाहन को ट्रक ने मारी टक्कर
27
Views

स्कूली वाहन को ट्रक ने मारी टक्कर, चार बच्चों की मौत

उज्जैन : उज्जैन-जावरा मार्ग के खूनी ब्लैक स्पाटों ने सोमवार को चार मासूम जिंदगी निगल ली। उन्हेल से पढ़ाई करने के लिए टेम्पो ट्रैक्स से नागदा के फातिमा और एगेाशदीप स्कूल जा रहे बच्चों को सामने से एक ट्रक ने टक्कर मार दी। ट्रैक्स में 15 बच्चे सवार थे और इनमें से चार ने दम तोड़ दिया। 11 बच्चे बुरी तरह घायल हैं। गंभीर घायल बच्चों को उज्जैन लाया गया। यहां से तीन बच्चों की हालत गंभीर देख उन्हें इंदौर रैफर किया गया है।

उज्जैन-जावरा मार्ग पर 14 ब्लैक स्पाट पहचाने गए हैं और इनपर अक्सर हादसे होते हैं और जानें जाती हैं लेकिन अफसर हर बार केवल दौरे की रस्म अदायगी करते हैँ। इस हादसे के बाद फातिमा कान्वेँट स्कूल ने पल्ला झाड़ लिया और उसके प्रबंधन ने साफ कर दिया कि वाहन उनके स्कूल से अनुबंधित नहीं था। मृत बच्चों के नाम भाव्यांश पिता सतीश जैन उम्र 16 वर्ष, सुमित पिता सुरेश उम्र 18 वर्ष, उमा पिता ईश्वरलाल उम्र 15 वर्ष और इनाया पिता रमेश नांदेड़ उम्र 6 वर्ष है।

दरअसल, उन्हेल के बच्चे फातिमा कॉन्वेंट स्कूल और एगोशदीप स्कूल में पढ़ने के लिए रोजाना वाहन क्रमांक एमपी 43 बीडी 2836 से नागदा जाते हैँ। सोमवार सुबह भी 15 बच्चे वाहन से नागदा जा रहे थे। झिरनिया फंटे के समीप ट्रक क्रमांक आरजे 19 सीबी 9278 के चालक फकीर पिता ईशे निवासी जोधपुर राजस्थान ने ट्रैक्स को टक्कर मार दी।

सीधी टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि ट्रैक्स पूरी तरह चकनाचूर हो गई और ट्रक का अगला हिस्सा भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। टक्कर लगते ही बच्चे ट्रैक्स के भीतर फंस गए और उनकी चीखों से पूरा क्षेत्र गूंज उठाा। लोगों ने ट्रैक्स को रस्सी से खींचकर सीधा किया और गाड़ी में फंसे बच्चों को बड़ी बमुश्किल से बाहर निकाला। पहले इन्हें उपचार के लिए जनसेवा अस्पताल भेजा गया। बाद में गंभीर बच्चों को उज्जैन रैफर कर दिया गया।

ट्रैक्स में 15 बच्चे थे जिनमें से 12 बच्चे फातिमा हायर सेकंडरी स्कूल और 3 एगोशदीप स्कूल के हैं। एम्बुलेंस चालक शिवनारायण व्यास ने बताया सूचना के 10 से 15 मिनट बाद ही एम्बुलेंस मौके पर पहुंच गई थी। तीन बच्चे नागदा में भर्ती है, जबकि पांच बच्चों को उज्जैन के आर्थो अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां 3 की मौत हो गई। 4 बच्चों का संजीवनी अस्पताल में इलाज चल रहा था, यहां 1 बच्चे की मौत हो गई।

यहां हम आपको बता दें कि उज्जैन-जावरा मार्ग बेहद अव्यवस्थित बना है। पूरे मार्ग पर 14 ब्लैक स्पाट हैं, इनमें अंधे मोड़, घुमावदार मोड़ और फंटे हैँ। इन पर यूं तो संकेतक लगे हैँ लेकिन कई बार इनकी अनदेखी के कारण हादसे होते है। हर दिन इन स्पॉट पर हादसे होते रहते हैं और अफसर सिर्फ रस्म अदायगी करते रहते हैँ। फिलहाल जरूरत रोड को ठीक करने की है लेकिन इस पर कोई काम होता नहीं दिखता।

हादसे के बाद फातिमा कान्वेँट स्कूल ने अपना पल्ला झाड़ लिया है। प्रबंधन ने प्रेस नोट जारी कर साफ किया कि वाहन उनके स्कूल से अनुबंधित नहीं था। बच्चे अपनी रिस्क पर वाहन से आना-जाना करते थे, जैसे ही हादसे की जानकारी मिली प्रबंधन ने बच्चों की खैरियत ली और उन्हें उपचार के लिए उज्जैन रवाना किया। फातिमा स्कूल प्रबंधन घटना से स्तब्ध है और वह बच्चों के जल्दी स्वस्थ होने की कामना करता है। फातिमा स्कूल ने अपने 12 बच्चों की सूची भी जारी की है।

इनके नाम सुमित मदारिया, निहारिका मदारिया, पर्व जैन, दर्शन जैन, अनुष्का सेकवाड़िया, भव्यांश जैन, प्रयाग जैन, उमा वाकतलिया, हरीश वाकतलिया, हिमांशु मंडावलिया, प्रियांशी मंडावलिया और अक्षत ढोबरिया है।
नागदा के सड़क हादसे पर सीएम शिवराजसिंह चौहान ने दुख जताया है और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Article Categories:
Quick News · उज्जैन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, spreadsheet, interactive, text, archive, code, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded. Drop file here

OMG Площадка ОМГ