Breaking News
Breaking News
{"ticker_effect":"slide-v","autoplay":"true","speed":3000,"font_style":"normal"}

5 हजार की रिश्वत लेते पकड़ाया एएसआई

September 29, 2022
5 हजार की रिश्वत लेते पकड़ाया एएसआई
20
Views

समझौते व न्यायालय में चालान पेश करने की एवज में मांग रहा था घूस

देवास : जैन की रहने वाली युवती और देवास के युवक के प्रेम विवाह के मामले में समझौते एवम चालान न्यायालय में पेश करने के मामले में 5 हजार की रिश्वत मांगने वाले एएसआई को लोकायुक्त उज्जैन की टीम ने दबोच लिया है । उससे घूस में मांगी गई राशि जब्त की गई है।

एएसआई प्रकाश राजोरिया ने उज्जैन के रहने वाले अनिल फुलेरिया से यह रिश्वत मांगी थी। इसकी शिकायत फुलेरिया ने उज्जैन लोकायुक्त एसपी से की थी। चालान पेश करने और सामने वाले पक्ष से राजीनामा कराकर मामला खत्म करने के एवज में एएसआई ने 5 हजार की मांग की थी। थाना सिविल लाइन का यह मामला एएसआई प्रकाश राजोरिया के पास विवेचना में था।

लोकायुक्त की टीम ने एएसआई प्रकाश राजोरिया को माता टेकरी के पीछे शीलनाथ धूनी पर पार्किंग स्थल पर रिश्वत लेते हुए पकड़ा। सिविल लाइन थाने में एएसआई को लेकर टीम पहुंची। इस मामले में पुलिस ने थाने के सामने चाय की दुकान संचालित करने वाले ओमप्रकाश वर्मा को भी आरोपी बनाया है।

फुलेरिया की बहन देवास से गुम हो गई थी , उसकी गुमशुदगी सिविल लाइन थाने पर दर्ज थी। फुलेरिया की देवास में ससुराल है और मई में वह बहन के साथ ससुराल आया था। 4 मई को अनिल ने अपनी बहन की गुमशुदगी सिविल लाइन थाने पर दर्ज कराई थी। इस मामले में 9 मई को अनिल की बहन को पुलिस ने तलाश कर लिया था।

लेकिन बालिग होने के चलते वह अपने पति के साथ चली गई थी। जिसके बाद 30 अगस्त को अनिल अपने परिवार के साथ सिविल लाइन थाना क्षेत्र के ग्राम लोहारी में रवि प्रजापति के घर पहुंचा और विवाद किया। इस दौरान मारपीट हुई। रवि प्रजापति ने सिविल लाइन थाने पर अनिल के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया था।

इस प्रकरण की जांच एएसआई प्रकाश राजोरिया कर रहे थे। इसी प्रकरण का चालान पेश करने और राजीनामा कराने की बात को लेकर एएसआई प्रकाश राजोरिया ने 5 हजार की रिश्वत मांगी थी। इधर टीआई सिविल लाइन संजय सिंह ने बताया सहायक उपनिरीक्षक प्रकाश चंद राजोरिया थाना सिविल लाइन में पदस्थ नहीं है।

एक माह पूर्व पुलिस अधीक्षक द्वारा राजोरिया को निलंबित किया जाकर लाइन में अटैच किया गया है। थाना सिविल लाइन का कोई भी मामला इनके पास में पेंडिंग नहीं है। थाना सिविल लाइन का इस प्रकरण से कोई संबंध नहीं है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Article Categories:
देवास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The maximum upload file size: 32 MB. You can upload: image, audio, video, document, spreadsheet, interactive, text, archive, code, other. Links to YouTube, Facebook, Twitter and other services inserted in the comment text will be automatically embedded. Drop file here

OMG Площадка ОМГ